Sunday, July 5, 2020
Tel: 9990486338
Home उत्तर प्रदेश मानवाधिकारों के लिए संघर्षरत चितरंजन सिंह का निधन, भड़ास एडिटर यशवंत सिंह...

मानवाधिकारों के लिए संघर्षरत चितरंजन सिंह का निधन, भड़ास एडिटर यशवंत सिंह ने कुछ यूं किया याद

चितरंजन भइया सिर्फ मेरे लिए ही नहीं, हजारों हजार लोगों के लिए प्रेरक थे। ऐसा विनम्र, बेबाक, जीवट और योद्धा व्यक्तित्व जीवन में मैंने कम ही देखा। सही कहूं तो एकतरह से आम लोगों के भगवान थे, गरीबों वंचितों शोषितों के मसीहा थे। मेरे जीवन पर उनकी अमिट छाप रही है।

एक दफे वे लखनऊ में हजरतगंज गांधी प्रतिमा के नीचे कुछ जनपक्षधर मुद्दों को लेकर आमरण अनशन पर थे। भीषण ठंढ का वक़्त था। दिन भर खूब भीड़ जमा रहती। भाषण माइक सब चलता बजता रहता। रात को चितरंजन भाई के पास बस गिने चुने एक दो लोग सोने के लिए रहते।

तब अपन प्रचंड रूप से बिगड़ैल थे। बेरोजगार भी थे। रात होते ही चितरंजन भइया के पास जाकर सो जाता, बॉडीगार्ड की तरह। रात में जब कभी जगते वो तो मुझे अपने बगल में सिकुड़ कर सोते पाते। तब वो मुझे कायदे से कम्बल रजाई ओढ़ा देते। सुबह जब जंता आने लगती तो अपन चुपचाप निकल लेते। ये घटनाक्रम कई रात चलता रहा।

मेरे अवचेतन में उनकी सुरक्षा को लेकर एक चिंता भाव था जिसे खुद रात में मौजूद रहकर अपने आप को आश्वस्त करता। अपन को रात काटनी होती। चाहें लखनऊ विश्वविद्यालय के नरेंद्र देव हॉस्टल में सोकर काटते या गांधी प्रतिमा के नीचे, क्या फरक पड़ना था

चितरंजन भइया ये किस्सा बेहद हुलस के साथ कई जगहों पर कई लोगों से शेयर किए थे। मेरी तारीफ में। मैं झेंप जाता और सोचता कि भइया मेरे छोटे से काम को कितना बड़ा बनाकर बताते और मुझे महानता बोध से जबरन भर देते हैं। छोटी छोटी चीजों में खुशियां तलाशने खुशियां बतियाने के वो जादूगर थे।

चितरंजन जी जनता के आदमी थे। उनने अपने लिए कभी नहीं जिया। पूरा जीवन दूसरों को न्याय, सम्मान, अधिकार दिलाने के लिए लड़े। वे मेरे लिए ही नहीं बल्कि पिछले कई दशकों के करोड़ों के लोगों के लिए बहुमूल्य थे। ऐसे लोग मरा नहीं करते। ये थोड़े थोड़े हिस्से में हमारे आपके भीतर समा जाते हैं, सदा के लिए!

आपको आखिरी लाल सलाम कामरेड!

-यशवंत

मानवाधिकारों के लिए सतत संघर्षरत रहे कामरेड चितरंजन सिंह का निधन

 

Avatar
ए. के. शुक्लाhttp://www.khabar4india.com
एके शुक्ला लगभग 5 वर्षों से मीडिया में सक्रिय हैं और खबर4इंडिया, खबर4यूपी और भड़ास4नेता के फाउंडर और संपादक हैं। शुक्ला कई समाचार चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। शुक्ला बेखौफ और परिणाम की चिंता किए बिना जन सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता करते रहे हैं। शुक्ला से कोई भी बेहिचक मोबाइल नंबर 9990486338 पर सम्पर्क कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रायबरेली: स्थानीय प्रशासन व वन विभाग की मिलीभगत से पेड़ो की कटान चरम पर

रायबरेली से महताब अहमद की रिपोर्ट भारत सरकार एक ओर जहां धरती को हरा भरा रखने के लिए एकं जुलाई से वरक्षारोपन का अभियान चलाकर...

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने आज सुबह कादीपुर दोस्तपुर रोड पर सरैया मुस्तफाबाद के समीप...

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने सुल्तानपुर - जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष...

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े श्याम जी त्रिपाठी रामजाने की रिपोर्ट सुुुलतानपुर बिजली विभाग ने मीटर घोटाले...
%d bloggers like this: