Saturday, July 4, 2020
Tel: 9990486338
Home उत्तर प्रदेश कानपुर: ...तो क्या शेल्टर होम में युवतियों की लूटी गई अस्मत !

कानपुर: …तो क्या शेल्टर होम में युवतियों की लूटी गई अस्मत !

कानपुर/लखनऊ: महिला सुरक्षा का दावा करके यूपी की सत्ता में आई बीजेपी अपने वादों से भटक रही है। जी हां! सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ चाहे जितना दावा कर लें कि उनके शासनकाल में सब ठीक है तो वह गलत है। बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह यूपी में भी शेल्टर होम से एक बड़ी कहानी निकलकर आई है। वह भी इसलिए मामला प्रकाश में आ गया क्योंकि शेल्टर होम में रहने वाली 50 से अधिक युवतियां  कोरोना संक्रमित पाई गईं।

जब इन बच्चियों का हेल्थ परीक्षण किया गया तो पाया गया कि इनमें से सात युवतियां गर्भवती हैं। इतना ही नहीं एक  एड्स से भी संक्रमित है और एक हेपेटाइटिस सी से ग्रसित पाई गई है। इन लड़कियों को आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर की बाल कल्याण समितियों द्वारा कानपुर रेफर किया गया था।

जैसा कि बताया जा रहा है कि इन युवतियों को अन्य जिलों से कानपुर रेफर किया गया है। ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि शेल्टर होम में रहने वाली युवतियां गर्भवती कैसे हुई और एड्स जैसे गंभीर बिमारी कैसे हुई? और तो और 50 से ज्यादा युवतियां कोरोना की चपेट में आ जाती हैं और शेल्टर होम के संचालक उनका ध्यान क्यों नही जाता?

वैसे तो बिहार के मुजफ्फरपुर और यूपी के देवरिया जिले में इस तरह का मामला सामने आ चुका है। यानि शेल्टर होम में महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए भेजा जाता है लेकिन यहां उनकी सुरक्षा नहीं की जा सकती बल्कि उनकी इज्जत लूटी जाती है। कार्यवाई के नाम पर जांच होती है और इसके पीछे कई सफेदपोस का नाम सामने आता रहा है लेकिन सारे मामले फाइलों में दबकर रह जाती हैं। एक भी केस अंजाम तक नहीं पहुंच पाता।

कुल मिलाकर महिलाएं सुरक्षित हैं ही नहीं। इसका ताजा उदाहरण कानपुर के शेल्टर होम में देखने को मिला है। रविवार को यूपी के कानपुर जिले में राज्य सरकार द्वारा संचालित बालिका संरक्षण गृह में 57 लड़कियां कोरोना वायरस पॉजिटिव पाई गई हैं। इस खबर के बाद से प्रशासन में हड़कंप मच गया। सभी लड़कियों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बालिका संरक्षण गृह में रहने वाली 57 कोविड-19 संक्रमित पाई गई लड़कियों में से सात लड़कियां गर्भवती भी पाई गई हैं। जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने इसकी पुष्टि करते हुए रविवार को बताया कि गर्भवती पाई गईं पांच लड़कियां कोविड-19 से संक्रमित भी पाई गई हैं। इन लड़कियों को आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर की बाल कल्याण समितियों द्वारा कानपुर रेफर किया गया था।

उन्होंने बताया कि गर्भवती दो अन्य लड़कियां कोविड-19 से संक्रमित नहीं पाई गई हैं। ये सभी लड़कियां जब कानपुर के बालिका संरक्षण गृह में लाई गई थीं उस समय भी गर्भवती थीं। तिवारी ने बताया कि संक्रमित पाई गई दो लड़कियों का इलाज लाला लाजपत राय अस्पताल में किया जा रहा है, जबकि बाकी तीन का उपचार एक निजी अस्पताल में चल रहा है।

वहीं अब इस पूरे मामले ने राजनीतिक मोड़ भी ले लिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बालिका संरक्षण गृह के मुद्दे पर राज्य सरकार से कई सवाल किए। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि शेल्टर होम में कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह में 57 बच्चियों को कोरोना की जांच होने के बाद एक तथ्य आया कि 2 बच्चियां गर्भवती निकलीं और एक को एड्स पॉजिटिव निकला।

मुजफ्फरपुर (बिहार) के बालिका गृह का पूरा किस्सा देश के सामने है। यूपी में भी देवरिया से ऐसा मामला सामने आ चुका है। ऐसे में पुनः इस तरह की घटना सामने आना दिखाता है कि जांचों के नाम पर सब कुछ दबा दिया जाता है लेकिन सरकारी बाल संरक्षण गृहों में बहुत ही अमानवीय घटनाएं घट रही हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब इस मामले के बारें में संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी से बात की है। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमाल माथुल ने भी इस पर डीएम से बात करके पूरी जानकारी ली है। बताया जा रहा है कि इन लड़कियों में एक एचआईवी और एक लड़की हेपेटाइटिस सी से ग्रसित है।

Avatar
ए. के. शुक्लाhttp://www.khabar4india.com
एके शुक्ला लगभग 5 वर्षों से मीडिया में सक्रिय हैं और खबर4इंडिया, खबर4यूपी और भड़ास4नेता के फाउंडर और संपादक हैं। शुक्ला कई समाचार चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। शुक्ला बेखौफ और परिणाम की चिंता किए बिना जन सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता करते रहे हैं। शुक्ला से कोई भी बेहिचक मोबाइल नंबर 9990486338 पर सम्पर्क कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रायबरेली: स्थानीय प्रशासन व वन विभाग की मिलीभगत से पेड़ो की कटान चरम पर

रायबरेली से महताब अहमद की रिपोर्ट भारत सरकार एक ओर जहां धरती को हरा भरा रखने के लिए एकं जुलाई से वरक्षारोपन का अभियान चलाकर...

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने आज सुबह कादीपुर दोस्तपुर रोड पर सरैया मुस्तफाबाद के समीप...

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने सुल्तानपुर - जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष...

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े श्याम जी त्रिपाठी रामजाने की रिपोर्ट सुुुलतानपुर बिजली विभाग ने मीटर घोटाले...
%d bloggers like this: