Sunday, July 5, 2020
Tel: 9990486338
Home देश भातीय वायुसेना की आन, बान और शान हैं ये 7 लड़ाकू विमान

भातीय वायुसेना की आन, बान और शान हैं ये 7 लड़ाकू विमान

डिफेंस डेस्क (खबर4इंडिया): भारतीय वायुसेना की ताकत, जांबाजी और पराक्रम में उसका आज भी कोई सानी नहीं है। दूसरों शब्दों में कहें तो यह दुनिया के शक्तिशाली देशों की वायुसेनाओं से किसी भी तरह कम नहीं है। वक्त के साथ-साथ इंडियन एयरफोर्स और भी ताकतवर बन रही है। आज इंडियन एयरफोर्स के पास ऐसे कई अत्याधुनिक फाइटर जेट हैं, जो पलक झपकते ही दुश्मन का काम तमाम करने में सक्षम हैं। जिसमें एक नाम मिराज- 2000 का भी आता है। आज हम आपको बता रहे है भारतीय वायुसेना के ऐसे एयरक्राफ्ट और लड़ाकू विमान के बारे में इंडियन एयरफोर्स की शान और जान हैं-

मिराज-2000 IAF_MIRAGE

फ्रांस निर्मित मिराज-2000 भारत के लिए हवा में दुश्मन का खात्मा करने वाला एक और शानदार जांबाज है। करगिल की वजय में मिराज ने अहम भूमिका निभाई थी। इसकी रफ्तार 2495 किलो मीटर प्रति घंटा है। इसे विभिन्न मिसाइलों से लैस किया जा सकता है।

मिग-29 (MIG-29)

2445 kmph की रफतार से उड़ने वाला यह विमान अपने मिसाइल्स से दुश्मनों के छक्के छुड़ा सकता है। रूस में बना मिग-29 एयर सुपिरियॉरिटी फाइटर जेट है, जो रडार कंट्रोल्ड मीडियम रेंज की मिसाइलों से दुश्मनों पर अटैक करने में सक्षम है।

सी-17 ग्लोबमास्टर (BOEING_C-17_GLOBEMASTER)

बोइंग ग्लोबमास्टर वायुसेना का सबसे बड़ा ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है। बोईंग सी-17 भारतीय वायुसेना को पहला भारी सैन्य साजो-सामान ढोने में सक्षम रणनीतिक परिवहन विमान है। यह विमान 70 टन का वजन लेकर उड़ान भर सकता है। इसमें उड़ान के दौरान भी ईंधन भी भरा जा सकता है। इसी विमान से यमन में फंसे नागरिकों को सुरक्षित भारत लाया गया था।

सुखोई-30 MKI (SU30MKI)

भारत की वायुसेना का सबसे ताकतवर हथियार है 2500 किलोमीटर प्रति घंटे की रफतार से उड़ने वाला विमान सुखोई। रूस निर्मित यह विमान भारतीय वायुसेना के पास बड़ी ताकतों में एक है। इसे यूरोफाइटर टायफून, डसॉल्‍ट राफेल और अमेरिका के बेस्‍ट एफ-फाल्कन सीरिज के फाइटर जेट्स की बराबरी का दर्जा मिला है। इस एयरक्राफ्ट मे विभिन्न प्रकार के बम तथा मिसाइल ले जाने के लिये 12 स्थान है। हवा में ईन्धन भरने में सक्षम है। या दुश्मन की सीमा के भीतर 3000 किमी की दूरी तक जाकर हमला करने की क्षमता है।

तेजस (TEJAS- IAF)

वर्ष 2015 में ही 99% इंडियन टेक्नोलॉजी से बने तेजस फाइटर जेट और आकाश मिसाइल को एयरफोर्स को सौंपा गया है। तेजस भारत का स्वदेशी लड़ाकू विमान है। इसे हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स ने बनाया है जिसे साल 2015 में एयरफोर्स में शामिल किया गया। 50 हजार फीट की ऊंचाई से हमला करने में सक्षम डर्बी और अस्त्र मिसाइल से लैस हो सकता है कम ऊंचाई से दुश्मन पर हमला करने में सक्षम 200 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से उड़ान भर सकता है। इसकी रेंज 3,000 किलोमीटर है।

सी- 130 जे हरक्युलिस (C- 130-HARCULES)

सी-130 जे हरक्यूलिस ने भारतीय एयरफोर्स की ट्रांसपोर्टेशन क्षमता में इजाफा किया है। चीन से सटे ओल्डी सेक्टर में दौलत बेग हवाई पट्टी पर इसे लैंड कर भारतीय वायुसेना विश्व कीर्तिमान बना चुकी है। सी-17 जे ग्लोबमास्टर के बाद या दूसरा बड़ा परिवहन विमान है।

राफेल- DASSAULT-RAFALE

भारतीय वायुसेना में जल्द ही राफेल लड़ाकू विमान शामिल होगा। फ्रांस की डसाल्ट एविएशन द्वारा निर्मित राफेल की एक यूनिट की कीमत हथियार सहित करीब 1,600 करोड़ रुपए होगी। इसमें हवा से जमीन में मार करने वाली स्कैल्प मिसाइलें होंगी। यह अपने अचूक निशाने और दूर से ही दुश्मन का खात्मा करने में सक्षम है।

Avatar
ए. के. शुक्लाhttp://www.khabar4india.com
एके शुक्ला लगभग 5 वर्षों से मीडिया में सक्रिय हैं और खबर4इंडिया, खबर4यूपी और भड़ास4नेता के फाउंडर और संपादक हैं। शुक्ला कई समाचार चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। शुक्ला बेखौफ और परिणाम की चिंता किए बिना जन सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता करते रहे हैं। शुक्ला से कोई भी बेहिचक मोबाइल नंबर 9990486338 पर सम्पर्क कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रायबरेली: स्थानीय प्रशासन व वन विभाग की मिलीभगत से पेड़ो की कटान चरम पर

रायबरेली से महताब अहमद की रिपोर्ट भारत सरकार एक ओर जहां धरती को हरा भरा रखने के लिए एकं जुलाई से वरक्षारोपन का अभियान चलाकर...

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने आज सुबह कादीपुर दोस्तपुर रोड पर सरैया मुस्तफाबाद के समीप...

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने सुल्तानपुर - जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष...

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े श्याम जी त्रिपाठी रामजाने की रिपोर्ट सुुुलतानपुर बिजली विभाग ने मीटर घोटाले...
%d bloggers like this: