Sunday, July 5, 2020
Tel: 9990486338
Home उत्तर प्रदेश नोएडा: बेगुनाहों से भी गुनाह कबुल करा लेती है पुलिस, देखिए सबूत

नोएडा: बेगुनाहों से भी गुनाह कबुल करा लेती है पुलिस, देखिए सबूत

नोएडा: अक्सर ऐसा मजाक हम आप सुनते हुए पा सकते हैं कि हिंदुस्तान की पुलिस जो जुर्म सामने वाले ने ना भी किया हो उसे भी कबूल करवा लेती है। तो आज की कहानी में कुछ ऐसा ही आपको जानने को मिलेगा बसर्ते यह कहानी कोई जोक नहीं बल्कि सच्चाई है।

नोएडा जिले की पुलिस पर जेल में बंद शख्स फायरिंग करता है और वह भी रात में! इतना ही नहीं पुलिस ऐसे शख्स के पास से चाकू, चोरी का वाहन भी बरामद करती है जो शख्स जेल में सो रहा होता है। इतना नहीं जेल में बंद शख्स के 4-5 साथी भी पुलिस बना देती है और उसपर गैंगेस्टर एक्ट भी लगा देती है। यह कहानी है मूल रूप से रामपुर के रहने वाले शख्स महेंद्र पुत्र बुधसेन की। महेंद्र को गाजियाबाद जिले की थाना इंदिरापुरम पुलिस द्वारा चोरी के आरोपी में 22 मई 2016 को जेल भेजा जाता है। मामले में 16 सितंबर 2016 को महेंद्र को बेल मिलती है और उसकी कारागार से रिहाई होती है।

दूसरी तरफ, नोएडा के बिसरख थाने की पुलिस और इकोटेक 3 थाने की पुलिस तीन-चार मामले अज्ञात के खिलाफ दर्ज किए रहते हैं। ये मामले 7 जुलाइ 2016 और 10 सितंबर 2016 से 15 सितंबर 2016 के बीच दर्ज किए गए रहते हैं। महेंद्र जेल से 16 सितंबर 2016 को निकलर आता है और 18 सिंतंबर 2016 को फिर से उसे पुलिस उठा लेती है। और जो भी अज्ञात में मुकदमें दर्ज रहते हैं वह सब महेंद्र और तीन चार लोगों का ग्रुप बनाकर उनपर डाल देती है और पेंडिंग केस खत्म कर लेती है।

हद तो तब हो जाती है जब महेंद्र के खिलाफ पुलिस चार्जशीट दाखिल करती है और उसमें महेंद्र के पास से चाकू, चोरी का वाहन, और पुलिस टीम पर फायरिंग जैसे आरोप लगा डालती है। अब ऐसे में यह समझ नहीं आ रहा है कि जो अपराध महेंद्र के जेल जाने के 2 महीने बाद और रिहाई से 2 या चार दिन पहले घटित होता है उसमें महेंद्र शामिल कैसे हो सकता है?

सवाल यह भी उठता है कि क्या महेंद्र जेल में रहने के दौरान पुलिस टीम पर आधी रात में फायरिंग करने आ जाता है और फिर जेल चला जाता है? मामले में नोएडा के तत्कालीन एसएसपी वैभव कृष्ण द्वारा जांच कराई गई। इकोटेक 3 के थानाध्यक्ष ने जांच रिपोर्ट प्रेषित की और उसमें ये लिखा कि महेंद्र वही शख्स है जो गाजियाबाद जेल में बंद था और पता नहीं उसने क्यों अपराध में अपनी संलिप्पता स्वीकार की।

अरे भाई किसी को लाठी से मारोगे तो वह स्वीकार कर ही लेगा। वैसे भी लोग कहते हैं कि हिंदुस्तान की पुलिस सामने वाले ने जो ना भी किया हो वह भी करवा सकती है। इस मामले से तो यही चरित्रार्थ हुआ है।

महेंद्र कीं जिंदगी खराब करने में मुख्य भूमिका निभाई है सब इंस्पेक्टर वृज सिंह यादव और सब इंस्पेक्टर विरेंद्रर कुमार ने। पूरे मामले को विस्तार से जानने के लिए समाचार के साथ लगभग 24 मिनट का वीडियो भी ‘क्राइम फाइल’ दिया गया कृपया उसे देखें। सारी बातें खुद क्लियर हो जाएंगी।

इसे भी देखें

Avatar
ए. के. शुक्लाhttp://www.khabar4india.com
एके शुक्ला लगभग 5 वर्षों से मीडिया में सक्रिय हैं और खबर4इंडिया, खबर4यूपी और भड़ास4नेता के फाउंडर और संपादक हैं। शुक्ला कई समाचार चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। शुक्ला बेखौफ और परिणाम की चिंता किए बिना जन सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता करते रहे हैं। शुक्ला से कोई भी बेहिचक मोबाइल नंबर 9990486338 पर सम्पर्क कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रायबरेली: स्थानीय प्रशासन व वन विभाग की मिलीभगत से पेड़ो की कटान चरम पर

रायबरेली से महताब अहमद की रिपोर्ट भारत सरकार एक ओर जहां धरती को हरा भरा रखने के लिए एकं जुलाई से वरक्षारोपन का अभियान चलाकर...

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली

सुल्तानपुर: सरैया बाजार में नवजात बच्ची सड़क किनारे पड़ी मिली ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने आज सुबह कादीपुर दोस्तपुर रोड पर सरैया मुस्तफाबाद के समीप...

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन

सुल्तानपुर: डीज़ल पेट्रोल की बढ़ी क़ीमत पर धरना प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन ✍️ रिपोर्ट श्याम जी त्रिपाठी रामजाने सुल्तानपुर - जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष...

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े

सुल्तानपुर: वर्षों से जिले में चल रहा मीटर घोटाला, गहरी है जड़े श्याम जी त्रिपाठी रामजाने की रिपोर्ट सुुुलतानपुर बिजली विभाग ने मीटर घोटाले...
%d bloggers like this: