Sunday, September 20, 2020
Tel: 9990486338
Home खबर मीडिया की पत्रकार रवीश कुमार ने राजस्थान की गहलोत सरकार पर अस्पताल में हुए...

पत्रकार रवीश कुमार ने राजस्थान की गहलोत सरकार पर अस्पताल में हुए बच्चों की मौतों को लेकर साधा निशाना

ऐसा लगता है कि राजस्थान की गहलौत सरकार का फ़ोकस बीजेपी पर निशाना साधने में ही है। अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में कम है। कोटा के जे के लोन अस्पताल का मामला एक हफ़्ते से पब्लिक में है। इसके बाद भी एक्सप्रेस के रिपोर्टर दीप ने पाया है कि इंटेंसिव यूनिट में खुला डस्टबिन है। उसमें कचरा बाहर तक छलक रहा है। क़ायदे से तो दूसरे दिन वहाँ की सारी व्यवस्था ठीक हो जानी चाहिए थी। लेकिन मीडिया रिपोर्ट से पता चल रहा है कि वहाँ गंदगी से लेकर ख़राब उपकरणों की स्थिति जस की तस है। जबकि मुख्यमंत्री की बनाई कमेटी ही लौट कर ये सब बता रही है। सवाल है कि क्या एक सरकार एक हफ़्ते के भीतर इन चीजों को ठीक नहीं कर सकती थी?

गहलौत सरकार को अब तक राज्य के दूसरे अस्पतालों की समीक्षा भी करा लेनी चाहिए थी। वहाँ की साफ़ सफ़ाई से लेकर उपकरणों का हाल तो पता चलता कि राज्य के पैसे से क़ौन मोटा हो रहा है। आख़िर दिल्ली से हर्षवर्धन को आने की चुनौती दे रहे हैं तो सिर्फ़ आँकड़ों के लिए क्यों, क्यों नहीं इसी बहाने चीजें ठीक की जा रही हैं। मुख्यमंत्री भरोसा पैदा करने के लिए अस्पताल में सुधार की तस्वीरें ट्विट कर सकते थे मगर नहीं।

हर्षवर्धन की राजनीतिक सुविधा के लिए जो आँकड़े दिए जा रहे हैं उससे कांग्रेस बनाम बीजेपी की राजनीति ही चमक सकती है ग़रीब माँ बाप को क्या फ़ायदा।

इसलिए नागरिकों को कांग्रेस बनाम बीजेपी से ऊपर उठकर इन सवालों पर सोचना चाहिए। ऊपर उठने का यह मतलब नहीं कि अभी जो मुख्यमंत्री के पद पर हैं वो जवाबदेही से हट जाएगा बल्कि यह समझने के लिए आप कांग्रेस बीजेपी से ऊपर उठ कर देखिए कि स्वास्थ्य के मामले में दोनों का ट्रैक रिकार्ड कितना ख़राब है। काश दोनों के बीच इसे अच्छा बनाने की प्रतियोगिता होती लेकिन तमाम सक्रियता इस बात को लेकर दिखती है कि बयानबाज़ी का मसाला मिल गया है। बच्चे मरे हैं उससे किसी को कुछ लेना देना नहीं।

दीप मुखर्जी ने अपनी रपट में लिखा है कि पहले के वर्षों में भी इस अस्पताल में मौतें होती रही हैं। इसका मतलब है कि सिस्टम जो कल था आज भी वही है।

2014- 1198 मौतें
2015-1260 मौतें
2016- 1193 मौतें
2017- 1027 मौतें
2018- 1005 मौतें
2019- 963 मौतें

Avatar
ए. के. शुक्लाhttp://www.khabar4india.com
एके शुक्ला लगभग 5 वर्षों से मीडिया में सक्रिय हैं और खबर4इंडिया, खबर4यूपी और भड़ास4नेता के फाउंडर और संपादक हैं। शुक्ला कई समाचार चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। शुक्ला बेखौफ और परिणाम की चिंता किए बिना जन सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता करते रहे हैं। इस समाचार से जुड़े शिकायत एवं सुझाव हेतु मो. न. 9990486338 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अनुराग कश्यप, पायल घोष जैसों को दो लगाओ और हवालात में डालो: IPS अमिताभ ठाकुर

लखनऊ: अपनी बेबाकी के लिए मशहूर आईपीएस अमिताभ ठाकुर का मानना है कि सुशांत केस और खासकर रिया का ड्रग्स कनेक्शन में नाम आने...

सुल्तानपुर–जिलाधिकारी ने पंचायत भवन के निर्माण का किया शिलान्यास

*प्रेस विज्ञप्ति*   सुलतानपुर 20 सितम्बर/जिलाधिकारी रवीश गुप्ता द्वारा शनिवार 19 सितम्बर को विकास खण्ड दूबेपुर के ग्राम पंचायत हरखीदौलतपुर में मनरेगा योजनान्तर्गत/चतुर्थ राज्य वित्त आयोग...

अमेठी: गौरीगंज थाने की पुलिस ने 2 वांछितों को किया गिरफ्तार, काफी समय से चल रहे थे फरार

एसपी तिवारी की रिपोर्ट अमेठी: थाना गौरीगंज पुलिस द्वारा 02 नफर वांछित अभियुक्त गिरफ्तार । पुलिस अधीक्षक अमेठी श्री दिनेश सिंह के निर्देशन, अपर पुलिस अधीक्षक श्री...

अमेठी: विभिन्न थाना क्षेत्रों से 6 शराब तस्कर गिरफ्तार, 60 लीटर अवैध शराब बरामद

अमेठी से एसपी तिवारी की रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक अमेठी श्री दिनेश सिंह के निर्देशन में, अपर पुलिस अधीक्षक श्री दयाराम सरोज के पर्यवेक्षण व क्षेत्राधिकारीगण...
%d bloggers like this: